moving

" India's First Live Media Consultancy and Placement on Facebook for Media Jobs.Be there with your Query."

'द लल्लनटॉप' में है कई पदों पर वैकैंसी, इस तरह की सोच रखने वाले करें अप्लाई...

पत्रकारिता में तमाम नए तरह के प्रयोग कर रही वेबसाइट दी लल्लनटॉप (thelallantop.com)को नए साथियों की जरूरत है। ऐसे में अगर आप इससे जुड़ना चाहते हैंतो आपमें क्या-क्या क्वॉलिटीज होनी चाहिएये इस वेबसाइट ने अपने एक पोस्ट के जरिए बताई है। हम ये पोस्ट आपके साथ ज्यों का त्यों शेयर कर रहे हैं...
ध्यान सेनीचे लिखीसब डीटेल्सपढ़ें
काम करने की जगह – फिल्म सिटीसेक्टर-16,नोएडा
एक्सपीरियंस कितना – फ्रेशर से लेकर साल तक
सैलरी – पिछली सैलरी से ज्यादा
वर्किंग टाइम – पांच दिन. घंटे. स्पेशल इवेंट होने पर छह दिन भी काम करना पड़ सकता है. पर ये बहुत कम ही होता है.
पढ़ाई – कुछ भी पढ़ा हो. पढ़ा हो. बस डिग्री पाने के लिए न पढ़ा हो. जो पढ़ा हो वो आता भी हो. जो आता होवो कोर्स में न भी पढ़ा होतब भी काम चल जाएगा. मने जर्नलिज्म पढ़ी हो ये जरूरी नहीं. हमारे यहां कई बीटेकएमएधारी हैं और सब के सब धुंआधारी हैं.
क्या न करें.
– फेसबुकट्विटर पर सवाल न पूछें. क्योंकि वहां जवाब नहीं मिलेगा.
– व्हाट्सएप और फोन पर चरस न बोएं.
– सिफारिश. इसकी जरूरत उन्हें पड़ती है जिनमें पोटास कम होता है.
– मेल पर मेल न ठांसें. जिसका सीवी शॉर्टलिस्ट होगाउसे ही रिप्लाई आएगा. सबको नहीं कर पाएंगे. स्टाफ है नहींसबको, “हैलो! आपका मेल मिला” लिखने के लिए.
क्या करें.
1.  ईमेल के सब्जेक्ट और एप्लिकेशन में सबसे पहले लिखा हो. किस पोस्ट के लिए अप्लाई कर रहे हैं. अगर ये नहीं लिखा होगा तो मेल डिलीट अवस्था को हासिल होगा.
2.  1. ईमेल के सब्जेक्ट और एप्लिकेशन में सबसे पहले लिखा हो. किस पोस्ट के लिए अप्लाई कर रहे हैं. अगर ये नहीं लिखा होगा तो मेल डिलीट अवस्था को हासिल होगा.
ये ऊपर गलती से दो बार टाइप नहीं हुआ है. ये सबसे जरूरी शर्त है. सिर्फ ऐसा लिखेंगे कि नौकरी चाहिए या आपके साथ काम करना है. तो काम वहीं खत्म हो जाएगा. साफ-साफ लिखें. किस पोस्ट के लिए अप्लाई कर रहे हैं.
2. मेल के साथ सीवी अटैच हो. सीवी में कट कॉपी पेस्ट न हो. वर्ना करियर ऑब्जेक्टिव पर ही इंटरव्यू खत्म हो सकता है. क्या बनाना. क्या बनना. जो है वही लिख दें. जिस भाषा में आता है (इंग्लिश-हिंदीउसी में लिख दें) पर भाषा जो भी लिखेंउसकी ग्रामर और स्पेलिंग से कट्टी न हो.
3. मेल के साथ दो वर्क सैंपल जरूर भेजें. ये कुछ भी हो सकता है. आपका वीडियो. आर्टिकल. आर्टिकल पहले छपे की जगह फ्रेश हो तो अच्छा. कॉरपोरेट लहजे में कहें तो प्रेफरेंस दी जाएगी.
4. लल्लनटॉप की स्टाइल में लिखने की कोशिश न करें. लल्लनटॉप की कोई एक स्टाइल नहीं. जो जैसा हैवैसे ही लिखेयही लल्लनटॉप की स्टाइल है. मारवाड़ का लिखे तो अपनी बोली मिट्टी की धमक के साथ. झारखंड का लिखे तो उसकी समृद्ध स्थानीयता की गमक के साथ.
5. यूनीकोड हिंदी में टाइपिंग आनी चाहिए.
6. वीडियो हमारे वक्त की जरूरत है. इसलिए कैमरा देख झुरझुरी न दौड़े तो अच्छा.
हां तो इतना लंबा प्रवचन समाप्त हुआ. अब देखें नौकरी है किस खांचे की.
टेक – मोबाइल संग मुहब्बत हो. बाकी टेक्नॉलजी भी समझने की झस रखता हो. वीडियो बना सके. चौचक. जो समझ आ सकें. मजेदार ढंग से. रामरती बुआ को भी. और राज सिंघानिया को.
बुक्स – ल से लिटरेचर. खूब पढ़ता हो. मने जब तक किताब खतम न हो जाएआंख से नींद रिसाई रहे इतना. काम क्या होगा. एक कविता रोज’, ‘एक कहानी रोज’, इन दोनों सेक्शन को क्यूरेट करना. पब्लिशर्स के साथ संपर्क में रहना. रेलेवेंट कंटेंट मंगवाना. लगाना. उनके कार्ड बनाना. लोगों से किताबें पढ़वाना. उनके मिजाज के मुताबिक. और फिर बुक रिव्यू कराना. वीडियो भी. फिक्शन-नॉन फिक्शनसब चलेगा.पिक्चर वाली पोएम’ और कविता वीडियो’ भी करने होंगे. साहित्य सिर्फ हिंदी का न पढ़ता समझता हो. दूसरी भारतीय भाषाओं और अंग्रेजी समेत कई विदेशी भाषाओं के लिटरेचर को लेकर भी लालसा हो. साहित्य को जनता की तरफ ले जाना है. इसलिए उसे मार्केट भी करना होगा स्मार्टली. जिन्हें ये काम छिछला लगता होवो महंत हमें माफ करें.
सिनेमा – फिर वही बात. फिल्मों से हवस की हद तक प्यार. भाषा कोई भी हो. देखनी है तो देखनी है. दादा कोंडके से लेकर कोएन ब्रदर्स तक. और सिर्फ देखनी ही नहीं है. उनके बारे में लिखना भी है. कभी किस्सा तो कभी क्रिटिकल पीस. गजेंद्र सिंह भाटी की टीम में काम करेंगे जो चुने जाएंगे. वीडियो भी बनाने होंगे. रिव्यू के लिए भी राह देख सकते हैं.
अनुवाद – अंग्रेजी से हिंदी में. सरल. किताबी नहीं. लल्लनटॉप स्टाइल. और वर्तनी की गलतियां कतई नहीं चलेंगी. कभी आर्टिकल पूरा का पूरा ट्रांसलेट करना होगा. कभी एक लंबा आर्टिकल पढ़कर उसके कुछ हिस्सों के आधार पर हिंदी में आर्टिकल लिखना होगा.
स्पोर्ट्स – खिलाड़ी के बारे में उपकार सामान्य ज्ञान का जिंदा नमूना हो जो कैंडिडेट. कौन कहां कब कैसे से भी पार. या फिर वैसा बनने की ख्वाहिश रखता हो. क्रिकेटटेनिस या फुटबॉल पर रेगुलर राइटिंग नहीं करनी है. एनालिसिस हो तो क्विक और शार्प. बाकी हिस्ट्री और दूसरी डिटेलिंग्स पर ज्यादा जोर रहेगा. क्रिकेट पर ज्यादा फोकस रहेगा. मैच दर मैचबॉल दर बॉल. किस्सा दर किस्सा. इसके लिए पुराने वीडियो,किताबेंआर्टिकलसब में औंधे मुंह घुस जाना होगा.
न्यूज प्रॉड्यूसर – दिन भर में कई न्यूज वीडियो आते हैं. उन्हें क्यूरेट करना. उनकी बैकग्राउंड के आधार पर आर्टिकल तैयार करना. उन वीडियो के स्लग वगैरह लिखना. वीडियो अपलोड करना.
7. सोशल मीडिया – फेसबुक का कीड़ा होलेकिन खाली nyc pik deer में न खर्च हो जाता हो. कॉमेंट में लिखकर जादू होने का इंतजार न करता हो. मेमे’ में इंट्रेस्टेड हो.
8. चीफ सब-एडिटर – एडिटिंग कर सके. शिफ्ट के लिए ख़बरें चुन सके. और खुद भी ख़बरें लिख सके.
ध्यान दें:   
जिनके सीवी शॉर्टलिस्ट होंगे उन्हें सोमवार से शुक्रवार के बीच नोएडा ऑफिस आकर टेस्ट और इंटरव्यू देना होगा. सुबह 8बजे से शाम के बीच. सभी को अपने सीवी सितंबर तक भेज देने हैं. उसके बाद स्वीकार नहीं किए जाएंगे.
सही डीटेल्स के साथ यहां मेल करें: lallantopmail@gmail.com

No comments:

Post a Comment

Looking for Script Writer

Loc-NewDelhi Wanted: Smart, young people for MyNation English newsdesk who have a strong grasp on digital media, video scripts and t...